Category: पति पत्नी शायरी

[Love 22+] श्रीमती के लिए वैवाहिक वर्षगांठ को शुभकामना संदेश

अगर आप भी अपनी वैवाहिक वर्षगांठ की शुभकामनाएं श्रीमती जी को शायरी के अंदाज में देना चाहते हैं तो आप सही जगह पर आए हो इस पोस्ट पर हमने पत्नी के लिए वैवाहिक वर्षगांठ की शुभकामनाएं लिख कर लाई है और हमें पूरी उम्मीद है आपको हमारी लिखी शादी की सालगिरह की शुभकामना शायरी स्टेटस

[L💚VE 50+] पत्नी की तारीफ में कुछ शब्द, शायरी, स्टेटस | Biwi Ki Tareef Shayari

प्यारे पाठको पहले हमने पति की तारीफ में शायरी पोस्ट की थी आज हम लेकर आए हैं पत्नी की तारीफ में कुछ शब्द जिनका इस्तेमाल आप पत्नी की तारीफ करने या पत्नी के लिए शायरी कहने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। पति पत्नी के रिश्ता एक अनमोल बंधन होता है जिसमें प्यार विश्वास एक

[Amazing] 50+ पति के लिए लव कोट्स, मैसेज, स्टेटस | Lovable words for husband in Hindi

Lovable words for husband in Hindi की ये पोस्ट पत्नी के पति के प्रति प्यार को शब्दों में बयान कर रही है। पत्नी के लिए यह एक सुखद एहसाहस होता है जब पति उसके पति प्यार का इज़हार करता है। पति पत्नी के रिश्ते में दोनों का महत्व बराबर होता है। शायरी के इस अंक

[TOP] 21+ पति पत्नी का रिश्ता स्टेटस | Husband wife relationship quotes in Hindi

पति पत्नी का रिश्ता स्टेटस और स्टैंडर्ड से नहीं चलता पति पत्नी का रिश्ता चलता है अंडरस्टैंडिंग से एक दूसरे की भावनाओं की क़दर करने से। पति पत्नी के रिश्ते में नोकझोंक भी होती है और प्रेम और मोहब्बत भी होती है। इसीलिए जब एक रूठ जाए तो दूसरे को मनाना आना चाहिए। Husband wife

[TOP30+] स्वयं की शादी की सालगिरह शायरी Status, कोट्स इन हिंदी

अगर आप भी सोच रहे हैं कि स्वयं की शादी की सालगिरह पर क्या लिखें? तो इस पोस्ट में हम स्वयं की शादी की सालगिरह पर शायरी का संग्रह लेकर आए हैं। यदि आपकी स्वयं की शादी की सालगिरह आई है तो इन शायरी, Quotes, Message का इस्तेमाल पति अपनी पत्नी के लिए मुबारकबाद और

[Top 50] पति की तारीफ में शायरी जो दिल को छू जाये

पति की तारीफ में शायरी“आज भी और कल भी मेरी एक ख़्वाहिश रहेगी, बस तेरे साथ की ख़ुदा से फरमाइश रहेगी”  हमारी वेबसाइट www.focushindi.com के सभी प्यारे-प्यारे पाठकों का हमारी इस पोस्ट पति की तारीफ में शायरी स्वागत है। सचमुच पति पत्नी का रिश्ता नदी के दो किनारों की तरह है जहाँ तक नदी जाती है दोनों